परावैधुतांक

निर्वात या वायु के आवेशो के मध्य कार्यरत बल तथा माध्यम में आवेशो के मध्य कार्यरत बल के अनुपात को परावैधुतांक कहते है |

परवैधुतांक का मान अलग अलग पदार्थो के लिए अलग अलग होता है |

शुद्ध जल = 80 , धातु = अनंत

(परवैधुतांक) एक विमाहीन राशी है या नियतांक है |

परावैधुतांक मान न्यूनतम हवा या माध्यम में 1 होता है |

2 thoughts on “परावैधुतांक”

  1. Great sir Ji. I need more notes on Biology. Can you please upload it for me? I love to share with my friends.

Leave a Comment