भौतिक राशि (Physical quantity)

भौतिक राशि (Physical quantity)

पहले हमने सदिश राशि व अदिश राशि के बारे में जाना था। अब हम bhautik rashi के बारे में जानेंगे।

भौतिक राशि (Physical quantity) क्या होती है ?

भौतिक राशि वह राशि होती है जिसे आसानी से मापा या तोला जा सकता है भौतिक रशिया कहलाती है।

भौतिक राशि के उदाहरण – द्रव्यमान, लम्बाई, चौड़ाई, समय इत्यादि।

भौतिक राशि के प्रकार

भौतिक राशियाँ दो प्रकार की होती है।

  • मूल राशि
  • व्युत्पन्न राशि

मूल राशि (Fundamental quantity)

मूल राशि वे रशिया होती है जो किसी अन्य राशि पर निर्भर नहीं होती है, मूल राशियाँ कहलाती है।

उदहारण – द्रव्यमान, समय आदि।

व्युत्पन्न राशि (Derived quantity)

वे भौतिक राशि जो किसी अन्य राशि पर निर्भर होती है, व्युत्पन्न राशि कहलाती है। अर्थात व्युत्पन्न राशि को ज्ञात करने के लिए हमे किसी मूल राशि की सहायता लेनी ही होगी।

बल व्युत्पन्न राशि का उदहारण है।

व्युत्पन्न राशि को चाल के सूत्र से आसानी से समझा जा सकता है।

चाल का सूत्र 
चाल = दुरी / समय

चाल एक व्युत्पन्न राशि है क्यूँकि हम बिना मूल राशि ( दूरी व समय ) के चाल का पता नहीं लगा सकते है।

भौतिक राशि को कैसे लिखा जाता है ?

भौतिक राशि को दो भागो में लिखा जाता है। पहले राशि का संख्यात्मक मान लिखा जाता है फिर राशि का मात्रक।

उदाहरण → एक बैग में 5 किलोग्राम शक्कर है।  इससे अभिप्राय यह है की इस बैग में 5 किलो वजन (weight) है और इसे kg मात्रक से दर्शाया जाता है की इसको द्रव्यमान के रूप में दर्शाया जाता है। 

आशा करता हु की आपको bhautik rashi क्या है समझ आ गया है।

Leave a Comment