सदिशों के प्रकार (types of vectors)

सदिशों के प्रकार (types of vectors)

पहले हम सदिश के बारे में पढ़ चुके है। सदिश किसे कहते है? अब हम सदिशों के प्रकार के बारे में जानेंगे। सदिशों के प्रकार निम्न है – समान सदिश वह सदिश जिसकी दिशा व परिमाण (मात्रा) दोनो समान हो समान सदिश कहलाते है। ऐसे सदिश को तुल्य सदिश भी कहते है। उदाहरण :- यहाँ … Read moreसदिशों के प्रकार (types of vectors)

भौतिक राशि (Physical quantity)

bhautik rashi

पहले हमने सदिश राशि व अदिश राशि के बारे में जाना था। अब हम bhautik rashi के बारे में जानेंगे। भौतिक राशि (Physical quantity) क्या होती है ? भौतिक राशि वह राशि होती है जिसे आसानी से मापा या तोला जा सकता है भौतिक रशिया कहलाती है। भौतिक राशि के उदाहरण – द्रव्यमान, लम्बाई, चौड़ाई, … Read moreभौतिक राशि (Physical quantity)

अदिश राशि व सदिश राशि (vector and scalar quantities)

अदिश राशि व सदिश राशि (vector and scalar quantities)

सदिश राशि व अदिश राशि (vector and scalar quantities) क्या है और इनके उदाहरण कोन कोनसे होते है।

सदिश राशि (Vector quantity)

सदिश राशि वह राशि होती है जिसमे किसी भौतिक राशि को व्यक्त करने के लिए परिमाण व मात्रा के साथ साथ दिशा का भी वर्णन होता है, सदिश राशि कहलाती है।

सदिश राशि के उदाहरण निम्न है –

बल, विस्थापन, वेग, त्वरण, आवेग, भार, बल आघूर्ण आदि।

सदिश राशि को इस उदाहरण से आसानी से समझा जा सकता है।

सदिश राशि उदाहरण
सदिश राशि उदाहरण

इस चित्र में बस, A स्थान से B स्थान तक चलती है। यहाँ बस उत्तर दिशा से दक्षिण दिशा की और 40 किलोमीटर की कुल दूरी तय करती है। इसमें 40 किलोमीटर परिमाण ( मात्रा ) है और परिमाण के साथ साथ दिशा भी है। इसलिए यह एक सदिश राशि का उदाहरण है।

अदिश राशि (Scalar quantity)

अदिश राशि वह राशि होती है जिनको व्यक्त करने है लिए सिर्फ परिमाण (मात्रा), व मात्रक की ही जरुरत होती है, अदिश राशि कहलाती है।

अदिश राशि के उदाहरण निम्न है –

ऊर्जा, समय, आयतन, द्रव्यमान, ताप, चाल, विघुत धारा आदि।

अदिश राशि को इस उदाहरण से आसानी से समझा जा सकता है।

अदिश राशि उदाहरण
अदिश राशि उदाहरण

इस चित्र में बस, A पॉइंट से B पॉइंट तक चलती है। A पॉइंट से B पॉइंट तक बस 40 Km/h से चलती है। यहाँ पर सिर्फ 40 किलोमीटर बस द्वारा तय की गयी कुल दूरी है। इसलिए यह एक अदिश राशि का उदाहरण है।

Read moreअदिश राशि व सदिश राशि (vector and scalar quantities)

कार्यफलन (karyafalan)

कार्यफलन (karyafalan) – किसी भी धातु की सतह से इलेक्ट्रान को बाहर निकालने के लिए आवश्यक कम से कम उर्जा की मात्रा को कार्यफलन कहते है | इसका मापन इलेक्ट्रान वोल्ट में करते है | कार्यफलन का मान धातु की प्रकृति और गुणों पर निर्भर करता है | क्या आप जानते है ? कार्यफलन का … Read moreकार्यफलन (karyafalan)

बिन्दुवत आवेश के कारण किसी बिंदु पर विधुत क्षेत्र

बिंदु A पर विधुत आवेश q है | इससे r दूरी पर P है जिस पर हमे विधुत क्षेत्र की तीव्रता ज्ञात करनी है इसीलिए बिंदु P पर परिक्षण आवेश की कल्पना करते है | विधुत क्षेत्र की तीव्रता E व दूरी r के साथ ग्राफ

विधुत क्षेत्र (vidhut kshetra)

विधुत क्षेत्र

वह क्षेत्र या प्रभाग जिसमे स्थित कोई आवेश अपनी स्थिति के अनुसार बल अनुभव करता है| उस आवेश का विधुत क्षेत्र कहते है | परिक्षण आवेश यह एक धनात्मक प्रकृति का आवेश होता है व इसका मान इतना अल्प होता है कि जिसके कारण मूल वैधुत क्षेत्र में कोई परिवर्तन नही होता है | परिक्षण … Read moreविधुत क्षेत्र (vidhut kshetra)

परावैधुतांक

निर्वात या वायु के आवेशो के मध्य कार्यरत बल तथा माध्यम में आवेशो के मध्य कार्यरत बल के अनुपात को परावैधुतांक कहते है | परवैधुतांक का मान अलग अलग पदार्थो के लिए अलग अलग होता है | शुद्ध जल = 80 , धातु = अनंत (परवैधुतांक) एक विमाहीन राशी है या नियतांक है | परावैधुतांक … Read moreपरावैधुतांक

कुलाम का नियम

कुलाम का नियम के अनुसार दो स्थिर बिंदु आवेशो के बीच लगने वाले आकर्षण या प्रतिकर्षण बल का मान दोनों आवेशो के गुणनफल के  समानुपाती तथा उनके बीच की दूरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होता है | जहाँ K समानुपाती नियतांक है | इसका मान दोनों के बीच के माध्यम की प्रकृति एवम् माध्यम की … Read moreकुलाम का नियम

Aavesho ke gundharm

Aavesho ke gundharm

इस पोस्ट में हम Aavesho ke gundharm | आवेशो के गुणधर्म के बारे में जानेंगे | Aavesho ke gundharm | आवेशो के गुणधर्म में हम विधुत आवेश की योज्यता, विधुत आवेश की निश्चरता, विधुत आवेश का संरक्षण, विधुत आवेश का क्वान्तिकरण भी पढ़ेंगे | आवेशो के गुणधर्म आवेश दो प्रकार के होते है ( 1 … Read moreAavesho ke gundharm

error: Content is protected !!