सदिशों के प्रकार (types of vectors)

सदिशों के प्रकार (types of vectors)

पहले हम सदिश के बारे में पढ़ चुके है। सदिश किसे कहते है? अब हम सदिशों के प्रकार के बारे में जानेंगे।

सदिशों के प्रकार निम्न है –

समान सदिश

वह सदिश जिसकी दिशा व परिमाण (मात्रा) दोनो समान हो समान सदिश कहलाते है।

ऐसे सदिश को तुल्य सदिश भी कहते है।

उदाहरण :-

समान सदिश

यहाँ पर सदिश X व सदिश Y के परिमाण व दिशा दोनों समान है।

असमान सदिश

वह सदिश जिसकी परिमाण सामान होने पर दिशा अलग होती है या दिशा समान होने पर परिमाण अलग होते है, असमान सदिश कहलाते है।

उदाहरण :-

असमान सदिश

यहाँ पर दिशा और परिमाण अलग अलग है। अतः यह असमान सदिश का उदाहरण है।

विपरीत सदिश

ऐसे सदिश जिनमे परिमाण सामान हो परन्तु दिशा विपरीत हो, विपरीत सदिश कहलाते है।

उदाहरण :-

विपरीत सदिश

यहाँ पर दोनों सदिश विपरीत दिशा में है।

संरेखीय सदिश

ऐसे सदिश जो रेखा के अनुदिश हो या रेखा के समान्तर हो संरेखीय सदिश कहलाते है। संरेखीय सदिश में परिमाण कितना भी हो चाहे लेकिन दिशा होनी चाहिए।

संरेखीय सदिश दो प्रकार के होते है

  1. समान दिशीय संरेखित सदिश
  2. विपरीत संरेखीय सदिश

समान दिशीय सदिश = यदि सदिश की दिशा समान हो व रेखा के अनुदिश (उसी दिशा में) या रेखा के समान्तर हो तो ऐसे सदिश को, समान दिशीय संरेखित सदिश कहते है।

विपरीत संरेखीय सदिश = अगर सदिश की दिशा असमान हो व रेखा के अनुदिश या रेखा के समान्तर हो तो ऐसे सदिश को, विपरीत संरेखीय सदिश कहते है।

उदाहरण :-

संरेखीय सदिश

यहाँ पर सदिश A व B समान दिशीय सदिश है। सदिश A व C विपरीत संरेखीय सदिश है।

उसी प्रकार सदिश A व सदिश X समान दिशीय सदिश है और सदिश A व Z विपरीत संरेखीय सदिश है।

एकांक सदिश

वह सदिश जिसका परिमाण एक हो, एकांक सदिश कहलाता है।

एकांक सदिश ज्ञात करने के लिए उस सदिश में उस सदिश के परिमाण का भाग लगाया जाता है।

एकांक सदिश को Â से दर्शाया जाता है। 

शून्य सदिश

वह सदिश जिसका परिमाण शून्य होता है शून्य सदिश कहते है। शून्य सदिश में दिशा निर्धारित नहीं की जा सकती है।


आशा करते है की आपको सदिशों के प्रकार कितने है पता चल गया है और अच्छे से समझ भी आ गया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!